Home Covid Breakthrough Infection : क्या है ‘ब्रेक थ्रू इंफेक्शन’, नागपुर के कई डॉक्टर...

Breakthrough Infection : क्या है ‘ब्रेक थ्रू इंफेक्शन’, नागपुर के कई डॉक्टर हुए संक्रमित

133
0

सीडीसी का कहना है कि अमेरिका में 9000 से ज्यादा ‘ब्रेक थ्रू इंफेक्शन’ के मिले हैं। (ब्रेक थ्रू इंफेक्शन का मतलब होता है-कोरोना टीके का पूरा डोज या दोनों डोज लेने के 19 सप्ताह बाद दोबारा से संक्रमित हो जाना)।

मुख्य बातें

  • भारत में नागपुर के कई डॉक्टरों में मिला है ‘ब्रेक थ्रू इंफेक्शन’
  • वैक्सीन लगवाने के बाद संक्रमित होने का कहा जाता है ‘ब्रेकथ्रू इंफेक्शन’
  • वायरस को बदलते स्वरूप को देखते हुए भारत में मास्क पहनना जरूरी

नई दिल्ली : देश में कोरोना की दूसरी लहर के संक्रमण में कमी आने लगी है। संक्रमण से बचाने के लिए देश में करीब 18 करोड़ लोगों को टीके की खुराक दी जा चुकी है। इनमें से लगभग चार करोड़ लोग टीके की दोनों डोज ले चुके हैं। अमेरिका में वैक्सीन की दोनों डोज लगवा चुके लोगों को बिना मास्क के घर से बाहर निकलने की बात कही गई है। बिना मास्क के घर से बाहर निकलने की चर्चा भारत सहित दुनिया भर में हो रही है। लेकिन भारत जैसे देश में कोरोना की दोनों डोज ले चुके लोगों को बिना मास्क पहने घर से बाहर निकलने की सलाह नहीं दी गई है। अमेरिका और भारत में ‘ब्रेकथ्रू इंफेक्शन’ के केस मिले हैं। यानि ऐसे लोग जो कोरोना टीके का डोज पूरी तरह से ले चुके हैं, उनमें कुछ समय बाद दोबारा संक्रमण मिला।