Home Covid कोरोना से अनाथ हुए बच्चों के भरण-पोषण, पढ़ाई का जिम्मा सरकारों पर,...

कोरोना से अनाथ हुए बच्चों के भरण-पोषण, पढ़ाई का जिम्मा सरकारों पर, SC का बड़ा फैसला

293
0

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने मंगलवार को कहा कि कोरोना महामारी से देश में जो बच्चे अनाथ हो गए हैं, उनकी भरण-पोषण और पढ़ाई-लिखाई का जिम्मा राज्य सरकारों पर हैं।

मुख्य बातें
  • कोरोना महामारी से अनाथ हुए बच्चों पर सुप्रीम कोर्ट ने सुनाया अहम फैसला
  • कोर्ट ने कहा कि अनाथ बच्चों की पहचान उजागर कर फंड नहीं जुटाया जा सकता
  • अनाथ बच्चों के भरण-पोषण एवं उनकी पढ़ाई-लिखाई की जिम्मेदारी सरकारों पर

नई दिल्ली : कोरोना महामारी से अनाथ हुए बच्चों पर सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को बड़ा फैसला सुनाया। शीर्ष अदालत ने अपने फैसले में कहा कि कोविड-19 से अनाथ हुए बच्चों के नाम पर फंड जुटाने से रोकने के लिए राज्य सरकारें एवं केंद्रशासित प्रदेश गैर-सरकारी संगठनों (एनजीओ) एवं व्यक्तियों के खिलाफ कार्रवाई करें। कोर्ट ने कहा कि बच्चों की पहचान उजागर उन्हें गोद दिए जाने से रोका जाना चाहिए। कोर्ट ने कहा है कि कोरोना के कारण जिन बच्चों ने अपने माता-पिता या अभिभावक को खो दिया है, उनके पालन-पोषण और पढ़ाई-लिखाई सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी सरकारों की है।